,be computer engineering,computer science and engineering,computer engineering,computer engineering kya hai,12 ke baad computer engenieering,engineering scope in india,b. tech computer engineeringcomputer science engineering jobs,computer engineering colleges in mumbai

12th Ke Baad Direct Computer Engineering कैसे करे? Computer Science Engineering in Hindi

Read Time:12 Minute, 45 Second

Direct 12th के बाद कंप्यूटर engineer kaise bane 

Computer Engineering एक बहुत ही अच्छा Scop होता है करियर का, आज दुनिया जितनी तेज़ी से कंप्यूटर के कार्यो में आगे बढ़ रही है, शायद ही किसी और AREA में बाद रही होगी। आज कल आप जहा देखो वही कंप्यूटर होते है, मानव द्वारा कंप्यूटर ही एकमात्र ऐसा Divice है जो मानव की गैर मौजूदगी में भी कार्य कर सकता है। क्या आपको पता है पहला कंप्यूटर का नाम क्या था ? पहला कंप्यूटर का नाम ABACUS था जो की सिर्फ गड़ना करने के लिए बनाया गया था यानि कैलकुलेशन करने के लिए बनाया गया था।

12th के बाद Computer Engineering करने के लिए आपके पास 12th में साइंस और मैथेमेटिक्स होने चाहिए क्यूंकि किसी भी फील्ड की इंजीनियरिंग में Math और Science बहुत काम आती है। इसीलिए कंप्यूटर इंजीनियरिंग में ये दोनों सब्जेक्ट जरूरी होते है। Actul में एडमिशन लेने के लिए एक Entrance Exams देना होता है, जिसे Scolarship Exam भी कह सकते है। इस एग्जाम में जितनी % आती है उसी के आधार पर अड्मिशन निर्धारित होता है। 

1. Computer Engineering क्या है ?

Computer Engineering का मतलब होता है  कंप्यूटर में  हर तरह के  सॉफ्टवेयर और हार्डवेयर  की अच्छी तरह से जानकारी प्राप्त करना। जिससे कभी कोई प्रॉब्लम आती है तो एक कंप्यूटर इंजीनियर उसे ठीक कर सके, यानि यहाँ पर कंप्यूटर इंजीनियर वह व्यक्ति होता है जो कंप्यूटर इंजीनियरिंग करता है। 
कंप्यूटर इंजीनियरिंग सिर्फ इतना ही नहीं होता है। कंप्यूटर एक ऐसा टॉपिक है जिसे जितना जानोगे उतना ही कम है जैसे आपने सिर्फ कंप्यूटर सॉफ्टवेयर और हार्डवेयर के बारे में जान लिया, बस इतना ही नहीं होता । इसमें सॉफ्टवेयर कैसे बनाते है सॉफ्टवेयर और हार्डवेयर को एक दुसरे के साथ कनेक्ट करना, सॉफ्टवेयर और हार्डवेयर को मॉडिफाई करना भी शामिल है। 
इसे आप ऐसे भी समझ सकते है के कंप्यूटर इंजीनियरिंग में इलेक्ट्रॉनिक और कंप्यूटर साइंस इन दोनों का मिश्रण होता है। इन दोनों चीजों का यदि आपको अच्छे से ज्ञान है तो आप इसे आसानी से समझ कर कर सकते है। और यदि आपको इन दोनों चीजों का ज्ञान नहीं है तब भी आप इसे कर सकते है। 

2. Types of Computer Engineering Degrees

कंप्यूटर इंजीनियरिंग में 2 पार्ट होते है :- 1. Computer Software Engineer, 2. Computer Hardware Engineer . 

Computer Software Engineering

इस कोर्स के अंदर पूरा सॉफ्टवेयर इंजीनियरिंग का वर्क होता है यानि इस कोर्स में बताया जाता है की एक सॉफ्टवेयर को कैसे बनाते है उसमे कॉडिंग किस प्रकार की जाती है, कौन सी प्रोग्रामिंग किस तरह के सॉफ्टवेयर डेवलपमेंट के लिए बेस्ट होती है। सॉफ्टवेयर इंजीनियर विभिन्न व्यवसायों के लिए सॉफ्टवेयर एप्लिकेशन लिखते हैं, डिज़ाइन करते हैं, विकसित करते हैं और परीक्षण करते हैं। कंप्यूटर सॉफ्टवेयर इंजीनियरिंग आज की दुनिया में सबसे महत्वपूर्ण क्षेत्रों में से एक है। कई सॉफ्टवेयर इंजीनियर यहां तक ​​कि सीईओ और अन्य सी-स्तरीय अधिकारी भी बन रहे हैं। सॉफ्टवेयर इंजीनियर जिनके पास वास्तविक-दुनिया कोडिंग अनुभव है, एक दृष्टि है। 

Types of Software Engineering Degrees

  • Software Design & Development
  • Software Quality Assurance & Testing
  • Information Security Engineering Degrees
  • Web, Game, & Mobile Application Development Engineering Degrees
  • Software Engineering Configuration Management Degrees

Computer Hardware Engineering

कंप्यूटर हार्डवेयर इंजीनियरिंग, कंप्यूटर की सबसे पहली इंजीनियरिंग थी। जैसे की हार्डवेयर का मतलब आप जानते ही होंगे “मशीनों के पार्ट्स ठीक करना ही हार्डवेयर इंजीनियरिंग होती है। ” इस कोर्स के अंदर कंप्यूटर के हार्डवेयर सिस्टम जैसे CPU इसके अंदर इसके अंदर की चीजों को और मॉडिफाई कैसे कर सकते है। अपने सिस्टम को हार्डवेयर की मदत से और फ़ास्ट कैसे कर  सकते है जिससे सिस्टम और पावरफुल हो सके। इसके अंदर अनेको ऐसी चीजे बताई जाती है जो एक इंजीनियर के लिए बहुत जरूरी होती है। 

3. कैसे बने Computer Engineer 

कंप्यूटर बैचलर डिग्री करना 

  • 12th के बाद आप कंप्यूटर इंजीनियरिंग बड़े आराम से कर सकते है यदि आपके पास Science और Math थी। इसके बाद आप Academy ज्वाइन करे।  जैसे आप  Polytechnic join कर  सकते है या B.Tech (Bachelor of Technology)  कर सकते है या फिर आप BCA (Bachelor of Computer Applications) इसके अलावा आप BIT ( Bachelor of Information Technology ) इसके लिए भी अप्लाई कर सकते हो। और यदि आप इस सब में कंफ्यूज है तो में इन सभी में आपको BCA बेस्ट बताऊंगा। क्यूंकि ये एक हाई लेवल का कोर्स है जो ज्यादातर कंप्यूटर इंजीनियर करते है। 

कंप्यूटर की प्रोग्रामिंग लैंग्वेजेज सीखना 

  • यदि आपको बेस्ट कंप्यूटर इंजीनियर बनना है तो आप प्रोग्रामिंग लैंगुएज जरूर सीखिए क्यूंकि बिना प्रोग्रामिंग लैंग्वेज के आप सॉफ्टवेयर इंजीनियर अधूरे ही कहलायेंगे। प्रोग्रामिंग लैंग्वेज में आपको C Language, C# Language, Python Lenguage, Https, C++, JAVA Language, Advance JAVA, इत्यादि लेंगुएज सीखना जरूरी है यदि आप इन सब में किसी एक में भी बेस्ट है तो ये बहुत अच्छी बात है और यदि आपको सब थोड़ी थोड़ी आती है तो ये और भी अच्छी बात है। 

कंप्यूटर हार्डवेयर सीखे 

  • कंप्यूटर इंजीनियरिंग में एक होता है सॉफ्टवेयर इंजीनियर और एक होता है हार्डवेयर इंजीनियर। कंप्यूटर इंजीनियरिंग के लिए ये दोनों ही बहुत जरूरी होते है। इनमे से आप कंप्यूटर हार्डवेयर का कोर्स कर सकते है।                                                                                                                                  
    • CAL-C Certified Computer Hardware & Networking Professional                                      
    • Diploma in Telecommunication Technologies                                                                             
    • CAL-C Certified System Administrator                                                                                       
    • CAL-C Certified CHIP Level Troubleshooting

4. कंप्यूटर इंजीनियर की Profile और Skill क्या होनी चाहिए 

  • एक कंप्यूटर इंजीनियर को, कंप्यूटर साइंस और इलेक्ट्रिकल इंजीनियरिंग की अच्छी जानकारी होनी चाहिए।  जिससे वो उसी टाइम पर उससे रेलेटेड प्रोब्लेम्स ठीक कर सके। और वो भी कम से काम समय में।                                                                                                                                                 
  • कंप्यूटर इंजीनियर को अच्छा टीम वर्क लीडर होना चाहिए जिससे वह सक्सेस होने के बाद या किसी ऊँची पोस्ट पर पहुँचने के बाद अपने नीचे के लोगो में अच्छे से understanding बनाये रख सके।                                                                                                                                                                        
  • साथ ही कंप्यूटर इंजीनियर को अच्छी नॉलेज होनी चाहिए computer Application, Hardware, Design की। एक अच्छे कंप्यूटर इंजीनियर को इन सबकी नॉलेज होती है।                                                                                                                                                                                                                   
  • कंप्यूटर इंजीनियर को लम्बे समय तक काम करने वाला होना चाहिए वो भी बिना किसी प्रेसर के। बिना किसी प्रेसर के काम करने वाला पर्सन ज्यादा अच्छा काम करता है।                                                                                                                                                                    
  • उसे डिजिटल टेक्नोलॉजी का अच्छा ज्ञान होना चाहिए। जिससे वो नयी नयी चीजों को बना सके।

ECE KYA HAI

ECE electronics and communication जैसे विभिन्न विद्युत घटकों के बारे में है प्रोसेसर RAM आदि, एक-दूसरे से जुड़ते हैं। इसमें फिजिक्स ज्यादा है। हम सिर्फ इलेक्ट्रॉनिक्स की मदद से अपनी चीजों को आसानी से अपनी दिनचर्या में शामिल कर लेते हैं यह शिक्षा की तरह हर जगह अपना मूल्य पाता है, उद्योग, चिकित्सा, रक्षा, अनुसंधान और विकास इलेक्ट्रॉनिक्स और संचार इंजीनियरिंग में छात्रों के बारे में जानें

उम्मीद करता हूँ की आपको अच्छे से पता चल गया होगा की computer engineering क्या होती है और इसे 12th के बाद कैसे कर सकते है। फिर भी आपका कोई और सवाल है या कुछ पूछना है तो आप मुझे नीचे कमेंट कर सकते है

what is eligibility for computer engeneering?

12th passed in science stream with mathematics

Happy
Happy
0
Sad
Sad
0
Excited
Excited
1
Sleepy
Sleepy
0
Angry
Angry
0
Surprise
Surprise
0
5/5 - (1 vote)

Average Rating

5 Star
0%
4 Star
0%
3 Star
0%
2 Star
0%
1 Star
0%

One thought on “12th Ke Baad Direct Computer Engineering कैसे करे? Computer Science Engineering in Hindi

Leave a Reply