password vs passphrase,जब आप अपने ऑनलाइन अकाउंट का पासफ्रेज तैयार कर लें तो उसे नियमित रूप से बदलते रहें। एक ही पासफ्रेज को लंबे समय तक इस्तेमाल करते रहेंगे तो हैकर्स उसे क्रैक करने की कोशिश कर सकते हैं।

password vs passphrase online accounts ko secure kaise kare, इस आर्टिकल में हम password vs passphrase ke बारे में बात करेंगे और जानेंगे की कैसे हम अपने ऑनलाइन एकाउंट्स को secure रख सकते हैं।agar आपका password एकशब्द है तो आप गलती कर रहे हैं। अब समय आ गया है।कि आप मल्टीपल वर्ड ‘passphrase’ में अपग्रेड करें। ऑनलाइन security में password strength का महत्वपूर्ण योगदान होता है। ज्यादातर hacking फिशिंग attack की मदद से होती है। इसमें ऑनलाइन प्रोफाइल्स और मैसेजेज की मदद से यूजर के लॉग-इन शाखाओं के बारे में पता लगाने की कोशिश की जाती है।

 इस तरह की इंसानी गलतियों को दूरकिया जा सकता है और साइबर सिक्योरिटी को मजबूत कर सकते हैं।मौजूदा दौर में हैकर्स लोगों के password के बारे में पता लगाने के लिए कई नए तरीके ईजाद कर चुके हैं अगर आप अपने ऑनलाइन अकाउंट्स को सुरक्षित बनाना चाहते हैं तो cyber security experts के कुछ steps को जरूर follow करना चाहिए

पासवर्ड का जमाना जा चुका है। अब आपको अपने अकाउंट की सुरक्षित रखने के लिए passphrase तैयार करना चाहिए। आपका passphrase लंबा और कठिन होगा तो उसे hack कर पाना बहुत मुश्किल होगा।

आप अपने पासवर्ड में space इस्तेमाल कर सकते हैं। कई बड़ी साइट्स जैसे गूगल और फेसबुक स्पेस को valid password कैरेक्टर के रूप में स्वीकार करती हैं। स्पेस देकर password के रूप में कोई लंबा वाक्य तैयार कर सकते हैं।

LAMOUR APP REVIEW fake or real ?

top 10 largest stadium of the world

ईमेल सर्विस protonmail के creators का मानना है कि इंसान random password बनाने में हमेशा फेल हो जाते हैं। लोगों की मेमोरी भी ज्यादा अच्छी नहीं होती है। ऐसे में passphrase ऑनलाइन security के लिहाज से एक अच्छा विकल्प साबित हो सकता है।

पासफ्रेज हमेशा एक सिंगलपासवर्ड से ज्यादा मजबूत होता है,क्योंकि इसके बारे में अनुमान। लगानाबहुत कठिन होता है। पासफ्रेज केरूप में आप अपना कोई वाक्य तैयारकर सकते हैं। हैकर्स इसके बारे मेंअंदाजा भी नहीं लगा पाएंगे।हो सकता है कि आपने पीसी को सुरक्षित रखनेके लिए एक वीपीएन और सिक्योरिटी सॉफ्टवेयरइंस्टॉल किया हो लेकिनक्या ये सब सही तरह सेकाम कर रहे हैं औरआपके लिए उपयोगी है।इसको जांचना जरूरी है

आप पढ़ रहे हैं :-password vs passphrase | online accounts ko secure kaise kare

एंटीवायरस अपडेट रखे

antivirus update kaise kare,अपना एंटीवायरस खोलें। क्या आपको डाटाबेस को अपडेट करने का कोई मैसेज नजर आ रहा है? अगर ऐसा नहीं है, तब भी वह कमांड पता लगाएं जो अपडेट्स के लिए ऑन-डिमांड चेकअप करती हैं। यह भी पता करें कि प्रोडक्ट के लिए भी अपडेट मौजूद है या नहीं। दरअसल आपको समय रहते हुए अपने सिक्योरिटी प्रोडक्ट्स की अपडेट के लिए जांच करनी चाहिए।

antivirus ka test kaise le

क्या आपको पता है कि आपका एंटीवायरस काम कर रहा है? प्रोटेक्शन का टेस्ट लेने के लिए A.M.T.S.O. (एंटी-मेलवेयर टेस्टिंग स्टैंडर्ड ऑर्गनाइजेशन) की वेबसाइट पर सिक्योरिटी फीचर्स चेक को विजिट करें। अलग-अलग टेस्ट रन करें और पता करें कि मेलवेयर प्रोटेक्शन और फिशिंग वेबसाइट्स के खिलाफ मिल रही प्रोटेक्शन कितनी सही है। यह तभी काम करेगा। जब एंटीवायरस एएमटीएसओ टेस्टपेजेज को सपोर्ट करता हो।

अपना वीपीएन वेरिफाई करें

वीपीएन (वर्चुअल प्राइवेट नेटवर्क)इंटरनेट ट्रैफिक को इन्क्रिप्टेड कनेक्शन के माध्यम से रूट करके सुरक्षित बनाता है।इसकी जांच के लिए वीपीएन टर्न ऑफ करेंऔर वेब पर ‘ व्हाट इज माई आइपी’ सर्चकरें। इससे असल आइपी एड्रेस पता लगेगा।अब वीपीएन से जुड़ें और दुबारा देखें। एकअन्य आइपी एड्रेस दिखेगा।

जियो लोकेशन वेबसाइट से आइपी एड्रेस को वेरिफाई करें कि वह लोकेशन से मैच खाता हो।सो शल मीडिया अकाउंट के लिए बेस्ट सिक्योरिटी कॉन्फिगर करनी चाहिए। सिक्योरिटी और प्राइवेसी जुड़ी बातों का रिव्यू करें। उदाहरण के लिए तय करें कि सर्च इंजन प्रोफाइल से लिंक नहो। फेसबुक लॉग इन की गई सभी डिवाइसेज के बारे में जानकारी देता है। अगर कुछ गलत नजर आए तो लॉग आउट कर दें।

मुझे आशा है की threequbes ka यह article “password vs passphrase | online accounts ko secure kaise kare” aapke लिए बहुत उपयोगी साबित होगा।please कमेंट करके बताये की आपको इससे कितनी मदद मिली।