rumor and facts about corona virus in hindi

rumor and facts about corona virus in hindi

rumor and facts about corona virus in hindi

rumor and facts about corona virus in hindi,जितनी रफ्तार से कोरोना वायरस(CORONAVIRUS) फैल रहा है और दुनिया के सभी देश जिस तरह अपने आपको समेटकर इस संक्रमण से बचने का प्रयास कर रहे हैं, उससे कहीं अधिक रफ्तार से इस वायरस से जुड़ी भ्रांतियां भी फैल रही हैं।
कहीं कहा जा रहा है कि लहसुन खाने से इस संक्रमण से बचा जा सकता है,तो कहीं सुनने में आ रहा है कि फ्लू की वैक्सीन कोरोना से बचा सकती है। ऐसी और भी कई भ्रांतियां हैं जिनकी हकीकत जानना आपके लिए जरूरी है।
1. भ्रांति- निमोनिया के टीके कोरोना वायरस से सुरक्षा देते हैं?
तथ्य निमोनिया के लिए इस्तेमाल किए जाने वाले न्यूमोकोकल और हीमोफिलसइ इन्फ्लुएंजा के टीके कोरोना वायरस से सुरक्षा नहीं देंगे। अभी तक इस बायरस को खत्म
करने के लिए कोई इलाज अभी उपलब्ध नहीं है।
2. भ्रांति- एंटीबायोटिक्स कोरोना को रोकने और उसके इलाज में कारगर हैं?
तथ्य  बिल्कुल नहीं, एंटीबायोटिक्स बैक्टीरिया के खिलाफ़ काम करते हैं लेकिन वायरसप पर नहीं। यह रोग एक प्रकार का वायरस है इसलिए, रोकथाम या चिकित्सा के साधन के
रूप में एंटीबायोटिक्स असरकारक नहीं होंगी।
3. भ्रांति- नियमित सेलाइन के साथ नाक को साफ़ करने से कोरोना वायरस के संक्रमण को रोकने में मदद मिलती है?
तथ्य  ऐसा कोई सबूत नहीं है। पर नियमित रूप से सेलाइन से नाक को साफ़ करने
से मामूली वायरस से नहीं बल्कि आम सर्द से जल्दी ठीक होने में मदद मिल सकती है।
4. भ्रांति-कोरोना वायरस पालतू जानवरों द्वारा फैलता है।
तथ्य  यह वायरस किसी भी जानवर से न
फैलता है खुद का हाइजीनिक होना जरूरी है। जानवरों के साथ रहने या खेलने के बाद हाथों को साबुन से जरूर धोएं।
हालांकि विश्व स्वास्थ्य संगठन के मुताबिक जानवरों के सीधे संपर्क में आने से बचें।
5. भ्रांति- ये वायरस मच्छर के काटने  से भी फैल सकता है?
तथ्य – कोरोना वायरस एक श्वसन वायरस है। कोई संक्रमित व्यक्ति जब खांसता है या
छौंकता है, या लार की बूंदों के माध्यम से या नाक साफ़ करता है, यह उससे फैलता है।
मच्छर के काटने से कोरॉना वायरस का फैलना मुश्किल है।
6. भ्रांति- शरीर पर एल्कोहल या क्लोरिन के छिड़काव से कॉरोना वायरस ख़त्म किया जा सकता है?
तथ्य नहीं। आपके शरीर पर अल्कोहल या क्लोरीन का छिड़काव करने से शरीर में
पहले से मौजूद वायरस नहीं फैलेंगे। ऐसे पदार्थों का छिड़काव शलेस्मा झिल्ली यानी नाक ,मुंह और आंख के लिए हानिकारक हो सकता है। ध्यान रहे कि  क्लोरीन और अल्कोहल दोनों ही कीटाणुरहित सतहों के लिए उपयोगी हो सकते हैं, लेकिन उन्हें उपयुक्त तरीकों के तहत उपयोग करने की जरूरत होती है।
7-भ्रांति- क्या गोमूत्र या गोबर कोरोना वायरस को रोक सकता है?
तथ्य  हालांकि कोरोना वायरस और गो प्रजातियों के बीच कोई सम्बंध नहीं है। कोरोना वायरस मनुष्यों और जानवरों दोनों के लिए नुकनुसान हो सकता है  और विश्व स्वास्थ्य संगठन के  अनुसार मनुष्यों और जानवरों के मल से भी यह वायरस फैल सकता है।
8-भ्रांति- लहसुन खाने से दूर होगा कोरोना वायरस?
तथ्य  ये बात पूर्णतया ग़लत है। लहसुन के अंदर एंटीमाइक्रोबियल गुण तो पाए जाते हैं।
लेकिन इस बात का कोई चिन्ह या सबूत नहीं मिल पा रहा है जो ये साबित कर सके कि लहसुन के उपयोग से कोविड 19 को ख़त्म किया जा सकता है।
9-भ्रांति- तापमान बढ़ते पर वायरस कम हो जाएगा?
तथ्य इस बात का अभी कोई सबूत नहीं है। हालांकि अधिक तापमान से वायरस का एक से दूसरे में फैलने का ख़तरा जरूर कम हो जाता है। पर रो कहना कि गर्मी बढ़ने से कोरोना वायरस खत्म हो जाएगा, अभी तक ऐसा कोई शोध सामने नहीं आया है।
इसी तरह अनेक प्रकार की अफवाहे फैलती जा रही हैं। मेरा सुझाव है की इस वायरस का इलाज सिर्फ बचाव है अतः बिना चिकित्सक की सलाह के कोई भी कदम न उठायें क्योंकि ये आप और आपके समाज के लिए खतरनाक साबित हो सकता है।
उम्मीद है की मेरे द्वारा कोरोना वायरस से संबंधित अफवाहों के तथ्य सम्बंधित दी गयी जानकारी आपको अफवाहों से बचाकर रखेगी

Leave a Reply

%d bloggers like this: