what is network marketing? क्या Network Marketing से वाकई में बिज़नेस बढ़ता है ?

Newtork Marketing  के बारे में आपने सुना ही होगा, और आपने ये भी सुना होगा की नेटवर्क मार्केटिंग के लोग जगह जगह सेमिनार भी करते है, अपने Business के बारे में लोगो को बताते है ताकि उनके बिज़नेस में और लोग शामिल हो और जो लोग शामिल होंगे उन्हें Profit भी हो, तभी तो लोग उनके बिज़नेस में शामिल होंगे। तो आज में आपको यहाँ यही बताऊंगा की नेटवर्क मार्केटिंग क्या होती है ? क्या ये सही होती है ? क्या ऐसा करने से बिज़नेस वाकई में बहुत जल्दी Success होता है ? 

Mobile Se Paise Kaise Kamaye 2021 | best money earning apps

blog se paise kaise kamaye in hindi top 5 tips

marketing in hindi meaning

नेटवर्क मार्केटिंग ऐसी मार्केटिंग होती है जिसमे एक बिज़नेस मेन अपने बुसिनेस को बढ़ाने के लिए कई लोगो को अपने साथ काम करने के लिए अपने बिज़नेस के साथ जोड़ता है। इसे MLM (Multi Level Marketing) भी कहते है। इसे ठीक से समझने के लिए में आपको एक Example देता हूँ – समझ लीजिये में एक बिज़नेस मेन हूँ और मेरा मोटिव यह है की मुझे अपने बिज़नेस को काफी दूर दूर तक फैलाना है या बड़ा करना है अब इसके लिए में ऐसे लोगो को इकठ्ठा करूँगा जो मेरे इस बिज़नेस में interested होंगे। अब में इन लोगो को कहूंगा की आप जितना मेरा प्रोडक्ट सेल करेंगे में उसका 20 % आपको दूंगा और साथ ही आप लोग ऐसे लोगो को बिज़नेस में शामिल करिये जो हमारा प्रोडक्ट आगे सेल कर सके फिर उन्हें भी % के हिसाब से कमीशन मिलेगी, ऐसे ही वो और लोगो को शामिल करेंगे और उन्हें भी कमीशन मिलेगी और ऐसे ही ये बिज़नेस आगे बढ़ता रहेगा। ये बिज़नेस एक चैन की तरह काम करता है इसीलिए इसे Network Marketing या Multi Leval Marketing कहते है। 

Company Seminar क्यों करती है 

सेमिनार का मतलब होता है लोगो को इकठ्ठा करके किसी चीज के बारे में बताना। सेमिनार सबसे ज्यादा Network Marketing के अंदर होता है, ताकि बिज़नेस Multi Leval Marketing का बन जाये। यहाँ Multi Leval Marketing होती है वह Level के According होती है, जैसे सबसे ऊपर वह होगा जिसने इस बिज़नेस को ओपन किया है उसके नीचे वह है जिन लोगो को उसने अपनी कंपनी में Join किया, उसके नीचे वे लोग  कंपनी join कर चुके है और उन्होंने किसी और को join किया।  ये ऐसे ही चलती रहती है। 
कंपनी सेमिनार इसलिए करती है क्यूंकी वह अपने बिज़नेस को और विकसित करना चाहते है। और इस सेमिनार में वे उन लोगो को बुलाते है जो उस कंपनी से जुड़े होते है चाहे वे किसी भी Level पर हो वे सब शामिल होते है और वे किसी को भी अपने साथ सेमिनार में ला सकते है चाहे वे कंपनी से जुड़ा हो या नहीं जुड़ा हो। 
सेमिनार में कंपनी अपने बिज़नेस के बारे में  बताती है, जिसमे बताते है की कंपनी में लोगो को कैसे नेटवर्क मार्केटिंग के जरिये जोड़ा जाये, अगर कोई जोड़ता है तो कितना % मिलता है। बस यही सब चीजे सेमिनार में बताते है। 
अब Network Marketing/ Multi Level Marketing को करने के लिए अलग अलग प्लान अपनाती है जो की मुख्यते 4 प्रकार के होते है। 

  • यूनिलेवल प्लान (Uni-level Plan)
  • बाइनरी, पिरामिड (Binary, Pyramid) प्लान
  • मैट्रिक्स प्लान (Matrix Plan)
  • ब्रेक-अवे प्लान (Break Away or Stair Step Break Away Plan)

यूनिलेवल प्लान (Uni-level Plan)

Uni-level Plan



यह प्लान आपके लिए नीचे सिर्फ एक स्तर पर चलता है। इसमें काम करने वाले हर मेम्बर को एक जैसा कमीशन मिलता है मतलब सबका प्रतिशत कमिशन एक बराबर होता है | इस प्लान में जुड़ने वाला हर व्यक्ति चाहे फिर वो ऊपर हो या फिर नीचे हो मेम्बर होता है और सभी मेम्बरों को परफॉरमेंस के आधार पर आंका जाता है।  


बाइनरी, पिरामिड (Binary, Pyramid) प्लान

Binary, Pyramid



बाइनरी प्लान को भारत में अधिकतर कम्पनियों द्वारा अपनाया गया था और कुछ कम्पनियाँ अभी भी इसी प्लान पर कार्यरत हैं।  इसकी शुरुवात 80 के दशक में हुई थी और 90 के दशक में बाइनरी प्लान सबसे ज्यादा अपनाया हुआ प्लान बन चुका था। 
बाइनरी प्लान में सबसे पहले एक लीडर कम्पनी में जुड़ता है और अपने नीचे ( Down or Direct में ) दो लोगोंं  जोड़ता है (Left and Right Leg) और फिर वो दो लोग भी, अपने दो-दो लोगों को जोड़ते हैं और फिर नीचे वाले लोग भी यही प्रक्रिया दोहराते हैं या इसी ढ़ंग में काम करते हैं। 

मैट्रिक्स प्लान (Matrix Plan)

Matrix Plan



इसमें कोई सीमा नहीं होती आप अपने नीचे कितने भी मेम्बर जोड़ सकते हो लेकिन कुछ कम्पनी के प्लान के अनुसार मेम्बर जोड़ने की एक सीमा भी हो सकती है।  कुछ कम्पनी मुख्यतः   3×3, 4×4, 5×5, 6×6, 7×7 …..के मैट्रिक्स प्लान पर अपना बिज़नस कर रही हैं।  अच्छे से समझने के लिये हम 4×4 का उदाहरण ले लेते हैं।   इस प्लान के अनुसार प्रत्येक मेम्बर अपने नीचे कम से कम 4 मेम्बर बनाने के लिये बाध्य होता है।  

ब्रेक-अवे प्लान (Break Away or Stair Step Break Away Plan)

Stair Step Break Away



 जब कम्पनी में काम करने वाले मेम्बरों की संख्या बहुत ज्यादा हो जाती है उस स्तथि में इस प्लान की आवश्यकता  होती है। इसमें मेम्बरों को उनके लेवल के अनुसार एक सीढ़ीयों के जैसे क्रम में रखा जाता है।  जैसे जैसे  मेम्बर के लेवल बढ़ते जाते  है तो उसे कम्पनी कोई उपाधि अलग नाम देती है और उसकी इनकम भी बढ़ जाती है।  एक निश्चित लेवल पर  पहुँचने पर कम्पनी उस ऊँचे लेवल के मेम्बर को अपलाइन से हटाकर अलग कर देती है या ब्रेक कर देती है। इसमे ऊपरी स्तर के मेंबर को पहले अलग किया जाता है, और उन्हे पीढ़ीमें बाँट दिया जाता है। 

3. Network Marketing Company Trusted या Fake 


कई लोगो के मन में ये सवाल होता है की नेटवर्क मार्केटिंग वाली कंपनी अच्छी होती है या बुरी। इसिलए  कई लोग सुनते ही दूर भागने लगते है उन्हें सिर्फ इतना ही समझ आता है की इसमें लोगो को जोड़ना होता है। लेकिन में आपको बता दू की ऐसा नहीं है।  नेटवर्क मार्केटिंग में हर कंपनी गलत नहीं होती , कुछ कंपनी बहुत अच्छी होती है तो कुछ गलत भी होती है। यहाँ हमें यदि किसी कंपनी के साथ जुड़ना है तो पहले उस कंपनी के बारे में कुछ बाते जाननी जरूरी होती है जैसे –

  1. कंपनी का सिद्धांत क्या है 
  2. कंपनी कितनी पुरानी है 
  3. कंपनी के कितने ब्रांच है 
  4. कंपनी का Product सेल करना आसान है या मुश्किल है 
  5. कंपनी के लोग कैसे है 
  6. कंपनी के अंदर लीडर कैसे है 

ये कुछ बाते होती है जो कंपनी में जुड़ने से पहले हमें पता होनी चाहिए। अब जैसे कुछ लोग Amazon Company के साथ जुड़कर Affiliate Marketing करते है। ये भी एक तरह से Network Marketing का ही रूप है बस फर्क इतना है की इसमें हमें और लोगो को जोड़ना नहीं होता है। सिर्फ Amazon के Product सेल करने होते है। क्यूंकि Amazon बहुत बड़ी और जानी मानी कंपनी है तो प्रोडक्ट सेल करना भी काफी आसान होता है। 

उम्मीद करता हु की आपको नेटवर्क मार्केटिंग के बारे में बहुत कुछ मालूम हो गया होगा। फिर भी यदि आपको लगता है की इसमें मेने कुछ बाते नहीं बताई है। या आपको कुछ और जानना हो इस टॉपिक से रेलेटेड या किसी अन्य Topic से रेलेटेड तो आप मुझे Comment करके बता सकते है।