होस्टिंग क्या है – What is Hosting 

hosting meaning in hindi,दोस्तों, जब कभी भी हम अपना खुद का वेबसाइट बनाते हैं इंटरनेट पर दो हमें दो चीजों की जरूरत होती है । सबसे पहला डोमेन और दूसरा वेब होस्टिंग । इन दोनों चीजों के बिना आप इंटरनेट पर वेबसाइट नहीं बना सकते । जैसे कि किसी भी उत्पाद को सुरक्षित रखने के लिए हमें एक सुरक्षित स्थान की आवश्यकता होती है ठीक उसी प्रकार वेबसाइट को ऑनलाइन प्रदर्शित करने के लिए हमे web hosting की जरूरत पड़ती है ।

वेब होस्टिंग क्या है – Hosting-meaning in Hindi 

हमारी वेबसाइट पर जो भी चीजें होती है जैसे – Images, Videos इत्यादि यह सारी चीजें वेब होस्टिंग पर ही होती है अगर हम अपना वेबसाइट wordpress या फिर किसी और साइट पर बनाते हैं तो हमारे वेबसाइट के files, Images, Videos को सुरक्षित रखने के लिए हमें एक होस्टिंग की जरूरत पड़ती है । जब हम इंटरनेट पर होस्टिंग खरीदते हैं तो हमें इंटरनेट पर एक स्थान दिया जाता है जहां हमारा वेबसाइट या ब्लॉग एक्टिव रहता है और इस स्थान को हम जो भी नाम देते हैं जिससे हमारे वेबसाइट और ब्लॉग को जाना जाता है उसे हम डोमेन कहते हैं ।

उदाहरण के लिए मान लीजिए हमें किसी स्थान पर अपना बिजनेस शुरू करना है तो हमें एक प्लॉट या खालिस्तान की जरूरत होती है ठीक उसी प्रकार इंटरनेट पर भी अपने ब्लॉग या वेबसाइट को भी एक जगह की जरूरत होती है जिसे हम वेब होस्टिंग कहते हैं । इसी वेब होस्टिंग के अंदर हमारे videos, images और files सुरक्षित रहते हैं और यह हर समय एक्टिव रहता है जिससे कि हमारा ब्लॉग हमेशा ऑनलाइन रहे । अब हमें यह जो जगह प्रदान करता है उसे यहां वेब होस्टिंग कंपनी कहते हैं ।

वेब होस्टिंग कितने प्रकार की होती है –  Types Of Web hosting

वेब होस्टिंग कई प्रकार की होती है जैसे कि शेयर्ड होस्टिंग ( Shared hosting ), डेडीकेटेड होस्टिंग ( Dedicated  hosting ) और क्लाउड होस्टिंग ( Cloud hosting ) इत्यादि ।

शेयर्ड वेब होस्टिंग ( Shared web hosting )

शेयर्ड वेब होस्टिंग का मतलब होता है होस्टिंग को शेयर करना । जैसे कि मान लीजिए आप कहीं बाहर रहने गए किसी हॉस्टल में अब उसमें और भी कई लड़के होते हैं जो साथ मिलकर बराबर बराबर रेंट देकर sharing में रहते हैं । ठीक उसी प्रकार shared web hosting में बहुत सारे वेबसाइट को एक ही सर्वर पर रखा जाता है । इस तरह की होस्टिंग बिगिनर्स के लिए एक अच्छा ऑप्शन है क्योंकि शुरुआती समय में उन्हें ना तो ज्यादा ट्रैफिक आएगी और ना कोई परेशानी का सामना करना पड़ेगा । इस होस्टिंग पर समस्या तब आती है जब आपका वेबसाइट बहुत जन के बीच लोकप्रिय हो जाता है और उसमें ट्रैफिक आना शुरू हो जाता है ।

BEST KEYWORD RESEARCH TOOLS
BLOGGING FOR BEGINNERS IN HINDI

शेयर्ड वेब होस्टिंग के फायदे ( Advantage ) 

  • यह होस्टिंग नए ब्लॉगर के लिए सबसे बेस्ट होस्टिंग है ।
  • दूसरा फायदा ये यह होस्टिंग अन्य होस्टिंग के मुकाबले बहुत सस्ती होती है ।

शेयर्ड वेब होस्टिंग के नुकसान ( Disadvantage )

  • यह होस्टिंग हाई ट्रैफिक को नहीं संभाल सकता इसलिए यह नए ब्लॉगर के लिए अच्छा ऑप्शन माना जाता है क्योंकि नए ब्लॉग में कम ट्रैफिक होता है हालांकि बाद में शेयर्ड होस्टिंग को बदल सकते हैं जब आपके ब्लॉग पर अच्छा ट्रैफिक आने लग जाए ।
  • दूसरा नुकसान यह है की जब आपका वेबसाइट पॉपुलर हो जाता है तो यह होस्टिंग वेबसाइट की स्पीड या लोडिंग स्पीड को धीमा कर देता है ।

वेब होस्टिंग कहां से खरीदें ?

अगर आप ब्लॉगिंग की दुनिया में सफलता पाना चाहते हैं तो जरूरी है कि आप एक अच्छी वेब होस्टिंग कंपनी को चुने हालांकि इंटरनेट पर बहुत सारी ऐसी कंपनियां है जो वेब होस्टिंग बेचती हैं लेकिन मैं आपको तीन कंपनी के बारे में बताऊंगी जो अन्य सस्ती कंपनियों के मुकाबले थोड़ा पैसा ज्यादा ले सकती हैं ।

. Hostgator

. Godaddy

. Bluehost

hosting plan compare

यह तीनों कंपनियां भारत देश में बहुत लोकप्रिय है आप इन तीनों कंपनी में से किसी का भी होस्टिंग प्लान ले सकते हैं और जैसा कि मैंने आपको बताया हुआ है होस्टिंग आप किसी भी कंपनी से  ले लीजिए लेकिन शेयर्ड होस्टिंग प्लान के बजाय आप VPS होस्टिंग प्लान को ही चुने ।आपको FREE HOSTING भी मिल सकती है पर उसका अपटाइम अच्छा नहीं होता है।

Bluehost – ब्लॉगिंग की दुनिया में ज्यादातर ब्लॉगर wordpress पर ब्लॉग बनाना पसंद करते हैं और wordpress मैं भी मुख्य रूप से ब्लूहोस्ट का ही सुझाव दिया है । Bluehost India के लिए एक अच्छी होस्टिंग कंपनी है अगर आप ब्लॉगिंग करने जा रहे हैं तो आप इसका shared hosting plan ले सकते हैं लेकिन अगर आपको लगता है खुद पर विश्वास है कि आप ब्लॉगिंग की दुनिया में बहुत जल्दी सफलता पा लेंगे तो आप इसका VPS hosting plan को ही चुने । लेकिन अगर आप अंग्रेजी में ब्लॉगिंग करते हैं और आपका ट्रैफिक टारगेट इंडिया के अलावा भी और भी अन्य देशों में है तो आप Bluehost India के वजाय Bluehost US का ही चयन करें ।

क्लाउड वेब होस्टिंग ( Cloud web hosting )

यह होस्टिंग बहुत ही अच्छी मानी जाती है क्योंकि इसमें बहुत सारे सर्वर होते हैं इसके डाउन होने के बहुत कम ना के बराबर चांसेस होते हैं और यह हाई ट्रैफिक को आसानी से संभाल सकता है ।

क्लाउड होस्टिंग के फायदे –

  • हाई ट्रैफिक को आसानी से हैंडल कर लेता है
  • इसके सर्वर डाउन होने के बहुत कम संभावना होती है ।

क्लाउड होस्टिंग के नुकसान – 

  • पहला नुकसान यह है क्लाउड होस्टिंग वेबसाइट को रूट एक्सेस नहीं देता है ।
  • दूसरा नुकसान यह है की अन्य होस्टिंग के मुकाबले यह थोड़ी सी महंगी पड़ती है ।

डेडीकेटेड होस्टिंग ( Dedicated होस्टिंग )

Dedicated Hosting एक ऐसी होस्टिंग होती है जहां पर आपको एक पूरा server दिया जाता है जैसे कि मान लीजिए आपने एक घर खरीदा उस पर पूरा का पूरा अधिकार आपका ही है और कोई उसका किराया नहीं दे रहा । ठीक वैसे ही डेडीकेटेड होस्टिंग होता है अगर आपके पास बहुत बड़ी साइट है जैसे Amazon, flipkart इत्यादि तो आप dedicated hosting ले सकते है । इसका जो सर्वर होता है वह सिर्फ एक ही वेबसाइट के images और files को स्टोर करता है इसलिए इसकी स्पीड भी काफी तेज होती है लेकिन यह बहुत ज्यादा महंगा पड़ता है क्योंकि यहां पर कोई और व्यक्ति नहीं है यानी कि इसका जो किराया है वह सिर्फ आप ही देंगे ।

दोस्तों अब आप अच्छे से जान गए होंगे की होस्टिंग क्या है (hosting meaning in hindi) इसके अलावा हमने आपको इसके नुकसान और फायदे के बारे में भी बताया है साथ ही कितने प्रकार की होती है इसके बारे में भी जानकारी दी है । मुझे उम्मीद है दोस्तों आपको यह जानकारी पसंद आई होगी